Pyar me Pagal shayari hindi

पीठ पीछे बुराई करने वालो से एक ही बात केहनी है
लगे रहो हमे घंटा फर्क नहीं पड़ेगा

तुम जो भाव कहते हो बात-बात पर,
याद रखना ignore करने में तो हम भी तुमहरे बाप है

मोहब्बत और नौकरी दोनों एक जैसी होती है जनाब
इंसान करता रहेगा और रोटा रहेगा मगर छोड़ेगा नहीं

खुल सकती है गॉंठें जरा से जतन से मगर,
लोग कैंचिया चलाकर सारा फ़साना बदल देते है


🎙️ शायरियों को सुनें 🎧

Read also – Romantic Mausam shayari

हर सुबह जिसे देखने का मन करे
ऐसी मोहब्बत हो आप

*********************

हा मैं पागल हु
दुनिया मुझे पागल कहती हैं
और सिर्फ तुम्हारा प्यार ही
मुझे ठीक कर सकता हैं

हर रात बस यही ख्याल सताता है
क्या आपको भी मुझपे प्यार आता है

*********************

लोग कहते है
जमी पर किसी को खुदा नहीं मिलता
शायद उन लोगो को DOST

कोई तुम सा मिला ही नहीं

pagal shayari
pagal shayari

तुम हमेशा कहती हो मैं Pagal हु
और ये भी कहती हो मैं तुमसे कम नहीं
मतलब तुम मुझसे भी जादा पागल हो

🤣 😃 😄 😅 😆

 हर रोज दुआ में माँगा है आपको
अब कैसे बताऊ कितना चाहता हु आपको

*********************

Read also Romantic love shayari

हाय उनका यु शर्मना फिर पलके झुकाना
थीमे से मुस्कुरा कर मेरे दिल पर तीर चलाना

*********************

इश्क की नासमझी में…..
हम अपना सबकुछ गँवा बैठे,
उन्हें खिलौने की जरूरत थी…..
और हम अपना दिल थमा बैठे।

सुना है जो देर से मिलता है
वो दूर तक चलता है

तूफ़ान में किस्ती और घमंड में हस्ती
अक्सर डूब ही जाया करती है

जो दरगाह बाँध आया हूँ
वो मन्नत हो हो तुम मेरी

तोड़ेंगे गुरुर इश्क़ का और इस कदर सुधर जायेंगे
साहब
मोहब्बत कड़ी रहेगी रस्ते पर और हम सामने से निकल जायेंगे

बागवान के गुलाब से दोस्ती थी, मतलब किसी ने आप से दोस्ती थी, सब के हिसाब से हममें प्यार था बस उसके हिसाब से दोस्ती थी , मैं दुनियादारी की बातें करता हूं, उसकी बस  किताब से दोस्ती थी माना कि हम अदब से बात नहीं करते   मतलब से बात नहीं करते थे, ये नरम लहजा प्यारी बातें तेरे लिए है हम इस लहजा में किसी और से बात नहीं करते है ,किसी ने एक सवाल पूछ कर रुला दिया की तुम दोनों  नहीं करते ख़ामोशी ने जब हम दोनो पे काबू पा लिया है, प्यार तो करते रहे पर तब से बात नहीं करते तू भी तंग आ गया है मैं भी खुस नहीं चल यार अब से बात नहीं करते

हम तेरे साथ जरूर खुलेंगे सब्र कर,
एक रोज अकेले मिलेंगे सब्र कर,
इजहारे इश्क़ में वक्त लगता है,
फिलहाल तो इतना कहेंगे सब्र कर

जब से तेरी शोभत में रह रहा है बुरा लग रहा है  अब थक कर तुझसे ये कह रहा की बुरा लग रहा है जिनके इशारों से मौसम के रुख बदलते थे उन्ही आँखों से दरिया बह रहा है  बुरा लग रहा है यकीन मान वो तेरी सब बातो पर अच्छा बेसक  कह रहा है बुरा लग रहा है, बिछड़ने के अलावा कोई रास्ता बाकी नहीं बात समझ तू बेवजह लड़ रहा है बुरा लग रहा है, मेरी जान अब तुझसे नफरत करूँगा ये बात मैं कह रहा हूँ अब बुरा लग रहा है

2 thoughts on “Pyar me Pagal shayari hindi”

  1. आज बरसो बाद मिली तो गले लगा कर खूब रोई
    वो कभी जिसने कहा था तेरे जैसे हजारों मिलेंगे

    Reply
  2. कोई कितना भी हिम्मत वाला क्यों ना हो,
    कभी ना कभी कोई रुला ही देता है।

    Reply

Leave a Comment