Your Page!

जानें कैसे हुई थी हनुमान जी की शादी

Your Page!

पराशर संहिता के अनुसार, हनुमान जी सूर्य देव के पास शिक्षा प्राप्त करने के लिए गए थे

Your Page!

हनुमान जी के गुरु सूर्य देव के पास 9 विद्याएं थी लेकिन बाकी की चार विद्याओं के लिए हनुमानजी को  शादीशुदा होना बेहद जरूरी था

Your Page!

इसके बाद सूर्य देव ने अपनी तपस्वी बेटी सुवर्चला के साथ शादी करने का प्रस्ताव हनुमानजी के सामने रखा

Your Page!

 उन्होंने कहा की सुवर्चला से शादी करने के बाद भी वह ब्रह्मचारी ही रहेंगे। क्योंकि, शादी के बाद वह फिर से तपस्या में लीन हो जाएंगी

Your Page!

इसके बाद हनुमान जी ने सुर्वचला के साथ शादी कर ली और इस तरह उन्होंने शादी के बाद अपनी पूर्ण शिक्षा हासिल की

Your Page!

और ब्रह्मचारी का पालन भी किया। इसके बाद सुर्वचला हमेशा के लिए अपनी तपस्या में लीन हो गई।

Your Page!

इस तरह हनुमान जी शादीशुदा होने के बाद भी ब्रह्मचारी बने रहे।

Your Page!

शायद ही ज्यादा लोगों को मालूम हो लेकिन, तेलंगाना के खम्मम जिले में हनुमान जी और उनकी पत्नी सुर्वचला की पूजा की जाती है।