7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों को मिल सकता है तोहफा, डीए में चार फीसदी तक का इजाफा संभव

7th Pay Commission Latest Update In HIndi: केंद्र सरकार के इस फैसले का असर 47 लाख कर्मचारियों और 68 लाख पेंशनभोगियों को होगा। जोरदार महंगाई के बीच ये बड़ी राहत होगी। चूंकि सामान्य तौर पर महंगाई भत्ता पहली जनवरी और पहली जुलाई से बढ़ाए जाने का ट्रेंड रहा है, इसलिए आगामी जुलाई में केंद्रीय कर्मियों को खुशियों की सौगात मिल सकती है। 

7th pay commission

केंद्र सरकार के कर्मचारियों को जल्द ही एक बड़ा तोहफा मिल सकता है। दरअसल, एक रिपोर्ट में देश में बढ़ती महंगाई का हवाला देते हुए कहा गया है कि जुलाई या अगस्त महीने में सरकार महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी कर सकती है। ऐसा होने पर इनके वेतन में जबरदस्त इजाफा देखने को मिल सकता है। 

महंगाई के आधार पर होता है संशोधन
गौरतलब है कि केंद्र सरकार साल में दो बार जनवरी और जुलाई माह के दौरान खुदरा महंगाई आंकड़ों के आधार पर डीए और डीआर में संशोधन करती है। देश में महंगाई की बात करें तो यह सरकार के निर्धारित लक्ष्य से ऊपर निकल चुकी है। खुदरा महंगाई की बात करें तो मार्च में यह दर बढ़कर 6.1 फीसदी से 6.95 फीसदी पर पहुंच गई थी, जबकि अप्रैल में इसके 7.5 फीसदी पर पहुंचने का अनुमान जताया जा रहा है। जो कि 18 महीने का उच्च स्तर होगा। 

चार फीसदी तक की बढ़ोतरी की उम्मीद 
अप्रैल के लिए खुदरा महंगाई के आंकड़े 12 मई को जारी होने की उम्मीद है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जिस रफ्तार से महंगाई बढ़ रही है सरकार उसे देखते हुए जल्द कर्मचारियों को राहत देने के लिए बड़ा फैसला कर सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक, जुलाई में कर्मचारियों को डीए चार फीसदी तक की बढ़ोतरी दी जा सकती है। आपको बता दें कि हाल ही में केंद्रीय कर्मचारियों के डीए में तीन फीसदी की बढ़ोतरी की गई थी, जो अब 34 फीसदी हो चुका है। 

47 लाख कर्मचारियों को होगा फायदा
केंद्र सरकार के इस फैसले का असर 47 लाख कर्मचारियों और 68 लाख पेंशनभोगियों को होगा। जोरदार महंगाई के बीच ये बड़ी राहत होगी। चूंकि सामान्य तौर पर महंगाई भत्ता पहली जनवरी और पहली जुलाई से बढ़ाए जाने का ट्रेंड रहा है, इसलिए आगामी जुलाई में केंद्रीय कर्मियों को खुशियों की सौगात मिल सकती है। केंद्र सरकार ने मार्च 2022 के आखिर में अपने कर्मियों का ‘डीए’ बढ़ा दिया था। नई दरें पहली जनवरी 2022 से लागू की गई हैं। 

Leave a Comment